ये ना पूछ कितनी शिकायतें हैं तुझसे ऐ ज़िन्दगी,

ये ना पूछ कितनी शिकायतें हैं तुझसे ऐ ज़िन्दगी,
सिर्फ इतना बता की तेरा कोई और सितम बाक़ी तो नहीं