आखिर मैं अकेला ही दुखी क्यों रहूँ?

पति: हर सुबह जब मेरी आँख खुलती है तो मैं प्रार्थना करता हूँ कि भगवान सबको तुम्हारे जैसी पत्नी दे।
पत्नी(खुश होकर): अच्छा!
पति: हां, आखिर मैं अकेला ही दुखी क्यों रहूँ?