मोहब्बत का इशारा याद रहता है

मोहब्बत का इशारा याद रहता है;
हर प्यार को अपना प्यार याद रहता है;
दो पल जो प्यार की बाहों में गुज़रे हों;
मौत तक वो नज़ारा याद रहता है।