दीप जलते रहे मन से मन मिलते रहे

दीप जलते रहे मन से मन मिलते रहे
गिले सिकवे सारे मन से निकलते रहे
सारे विश्व मे सुख-शांति की प्रभात ले आये
ये दीपो का त्योहार खुशी की सोंगात ले आये..